नई पोस्ट करें

मशहूर बॉडी बिल्डर Satnam Khattra की heart attack की वजह से मौत, महज 31 साल थी उम्र

2022-10-05 23:35:55 098

मशहूरबॉडीबिल्डरSatnamKhattraकीheartattackकीवजहसेमौतमहज31सालथीउम्रAgnipath Protest: विरोध प्रदर्शनों के चलते 34 से अधिक ट्रेन रद्द, देरी से चल रही 72 ट्रेनें******Highlights सेना में भर्ती के लिए अग्निपथ योजना की घोषणा और रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) की परीक्षाओं में देरी के विरोध में प्रदर्शनों के चलते गुरुवार को 34 से अधिक ट्रेन रद्द कर दी गईं और आठ अन्य को आंशिक रूप से रद्द किया गया। रेलवे ने एक बयान में बताया कि प्रदर्शनों के चलते 72 अन्य ट्रेन देरी से चल रही हैं। रेलवे ने कहा कि पांच मेल और एक्सप्रेस ट्रेन और 29 यात्री ट्रेनें रद्द कर दी गईं। अग्निपथ योजना के खिलाफ देशभर में कई जगहों से विरोध प्रदर्शन की खबरें आ रही हैं।दिल्ली के नांगलोई में, प्रदर्शनकारियों ने रेलवे ट्रैक को अवरुद्ध कर दिया और हाल ही में घोषित योजना के खिलाफ नारेबाजी की। दिल्ली पुलिस ने कहा कि उसे सुबह लगभग 9.45 बजे सूचना मिली कि 15-20 लोग नांगलोई रेलवे स्टेशन पर अग्निपथ योजना और आरआरबी परीक्षा में देरी के विरोध में एकत्र हुए हैं। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस को बताया कि उन्होंने दो-तीन साल पहले कुछ सरकारी परीक्षाओं के लिए फॉर्म भरे थे लेकिन परीक्षा नहीं हुई और अब उनकी उम्र अधिक हो गई है। दोपहर बाद पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को शांत कराया और तितर-बितर कर दिया। अकेले पूर्व मध्य रेलवे जोन में कुल 22 ट्रेन रद्द की गईं।केंद्र की 'अग्निपथ' योजना के विरोध में बृहस्पतिवार को उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों में युवाओं ने प्रदर्शन किया। इसकी वजह से वाराणसी रेल मण्डल के विभिन्न खण्डों की करीब 21 रेलगाड़ियों का संचालन प्रभावित हुआ। अलीगढ़ और मथुरा में नौजवानों ने योजना के खिलाफ रास्ता जाम किया, बलिया में युवाओं के प्रदर्शन के कारण स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस को रोकना पड़ा। वहीं, फिरोजाबाद और बुलंदशहर में नौजवानों ने सड़क पर उतरकर नारेबाजी की।पूर्वोत्तर रेलवे द्वारा जारी बुलेटिन के मुताबिक 'अग्निपथ योजना' के खिलाफ धरना-प्रदर्शन के कारण वाराणसी मण्डल के गोरखपुर-छपरा, छपरा-बलिया, सीवान-थावे, छपरा-मसरख-थावे, वाराणसी-गाजीपुर और वाराणसी-प्रयागराज रेल खण्डों पर 21 रेलगाड़ियों का संचालन ठप हो गया, जो समाचार लिखे जाने तक शुरू नहीं हो सका है।

मशहूरबॉडीबिल्डरSatnamKhattraकीheartattackकीवजहसेमौतमहज31सालथीउम्रPM Narendra Modi govt 8 years: पीएम मोदी की विदेश नीति के मुरीद हुए मौलाना महमूद मदनी, योगी आदित्यनाथ की भी तारीफ की******HighlightsPM Narendra Modi govt 8 years: महासम्मेलन India TV Samvaad में मौलाना महमूद मदनी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ की। मदनी ने कहा कि, 'देश में लोकतंत्र है। कई काम उम्मीद के मुताबिक होते हैं, कई काम उम्मीद के मुताबिक नहीं होते हैं, और सारे काम सबकी उम्मीदों के मुताबिक नहीं होते हैं। मोदी सरकार का विदेश नीति पर जो रुख रहा है, उसकी तारीफ न की जाए तो कंजूसी या नाइंसाफी होगी। दुनिया के सामने भारत की एक स्वतंत्र भूमिका काफी दिनों के बाद दिखी है। उन्होंने (देश नहीं झुकने दूंगा) इसको प्रैक्टिकली करके दिखाया है।' वहीं योगी आदित्यनाथ के बारे में मदनी ने कहा कि, 'योगी बिना किसी भेदभाव के सभी धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटवाए।'बुलडोजर मामले पर मौलाना महमूद मदनी ने कहा कि, 'अगर एक खास समुदाय को निशाना बनाकर कोई एक्शन होगा तो फिर अदालत ही एकमात्र रास्ता है। बहुत सारे मामले हैं जिसमें अदालत ने दखल दिया। कुछ मामले हैं जहां पक्षपात हुआ है, अब सरकारों को इसपर ध्यान देना होगा कि इस तरह से नहीं होना चाहिए।' वहीं तलाक पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि 'मैं तलाक के बिल्कुल खिलाफ हूं। लोग तीन तलाक की बात करते हैं। मैं तो पूरी तरह से तलाक के खिलाफ हूं।'मोदी सरकार का मुसलमानों से कैसा रिश्ता रहा है?पिछले 8 सालों में मोदी सरकार का मुसलमानों से कैसा रिश्ता रहा है? इस सवाल पर मदनी ने कहा कि, 'मुझे तो लगता है कि इस सवाल की कोई जरूरत नहीं है। जैसा कि वह (आरिफ मोहम्मद खान) कह रहे थे कि अलग-अलग क्यों देखा जाए? एक साथ ही देखा जाए। तो मुझे नहीं लगता कि इस कॉन्टेक्स्ट में देखा जाए कि मुसलमानों के साथ उनका रिश्ता कैसा रहा? जलसे में मैंने सरकार की बात नहीं, परिस्थितियों की बात की थी। और वह शिकायत भी इसीलिए थी ताकि चीजों को ठीक कर लिया जाए।'मशहूरबॉडीबिल्डरSatnamKhattraकीheartattackकीवजहसेमौतमहज31सालथीउम्रपीएमसी बैंक घोटाला: एचडीआईएल मालिक की 12 कारें जब्त****** प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 4,355 करोड़ रुपये के धोखाधड़ी मामले में मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज कर 12 महंगी कारों को जब्त किया है। इसमें दो रॉल्स रॉयस, दो रेंज रोवर और एक बेंटली शामिल है। मुंबई के छह स्थानों पर छापे के बाद एचडीआईएल के चेयरमैन राकेश वाधवान और उनके बेटे सारंग वाधवान की ये कारें जब्त की गईं।इस बीच ईडी ने पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक के लापता प्रबंध निदेशक जॉय थॉमस को गिरफ्तार किया है।पिछले चार दिनों से लापता थॉमस की गिरफ्तारी ऐसे समय में हुई है, जब एक दिन पहले गुरुवार को रियलिटी कंपनी एचडीआईएल के अध्यक्ष राकेश कुमार वधावन और प्रबंधन निदेशक सारंग वधावन को इसी विभाग ने गिरफ्तार किया था और उनकी 3,500 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त कर ली थी।

मशहूर बॉडी बिल्डर Satnam Khattra की heart attack की वजह से मौत, महज 31 साल थी उम्र

मशहूरबॉडीबिल्डरSatnamKhattraकीheartattackकीवजहसेमौतमहज31सालथीउम्रRussia Ukraine News: यूक्रेन मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने बुलाई बैठक, छह पश्चिमी देशों ने की थी मांग******Highlightsसंयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद छह पश्चिमी देशों के अनुरोध पर एक बार फिर आज यूक्रेन के मुद्दे पर बैठक करेगी। इन देशों ने रूसी मानवीय प्रस्ताव पर अपेक्षित वोट से पहले यूक्रेन पर एक सत्र आयोजित करने की मांग की थी। ब्रिटेन के संयुक्त राष्ट्र मिशन ने ट्वीट किया, 'रूस युद्ध अपराधों को अंजाम दे रहा है और नागरिकों को निशाना बना रहा है।' सत्र का अनुरोध करने वाले छह देशों में ब्रिटेन भी शामिल है। अन्य पांच देश अमेरिका, फ्रांस, आयरलैंड, नॉर्वे और अल्बानिया हैं।रूस ने मंगलवार को सुरक्षा परिषद के एक प्रस्तावित प्रस्ताव को पेश किया, जो यूक्रेन में संवेदनशील परिस्थितियों में नागरिकों की सुरक्षा, मानवीय सहायता, और देश छोड़ना चाह रहे लोगों के लिए सुरक्षित मार्ग बनाने की मांग करेगा, लेकिन युद्ध का कोई जिक्र किए बिना। मसौदा प्रस्ताव में सभी नागरिकों को वहां से जल्दी निकालने के लिए सभी संबंधित पक्षों को राजी करने के महत्व पर जोर दिया जाएगा, हालांकि ये पक्ष कौन हैं इस संबंध में कोई जानकारी नहीं दी गई।प्रस्ताव पर शुक्रवार को परिषद में मतदान होने की उम्मीद है । संयुक्त राष्ट्र में रूस के उप-राजदूत दमित्री पोलांस्की ने एक ट्वीट में ब्रिटेन को कोई ऐसा उदाहरण देने को कहा, जहां संयुक्त राष्ट्र के मानवीय प्रस्तावों में कभी आक्रामकता या आक्रमण का हवाला दिया गया हो।इनपुट-भाषामशहूरबॉडीबिल्डरSatnamKhattraकीheartattackकीवजहसेमौतमहज31सालथीउम्रदेशभर में चढ़ा होली का रंग, वृंदावन के बांके बिहारी मंदिर उमड़ा श्रद्धालुओं का हुजूम, पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं******Highlightsदेशभर में होली का त्योहार पारंपरिक आस्था और उत्साह के साथ सेलिब्रेट किया जा रहा है। इस मौके देश के विभिन्न शहरों, गांवों कस्बों में लोग एक-दूसरे को रंग-गुलाल लगाकर पर्व की खुशियों का इजहार कर रहे हैं। पिछले दो साल कोरोना के हालातों के बाद यह पहला मौका है जब कोरोना की लहर देश में नहीं, हैं और कोरोना के मामले भी बहुत कम हो चुके हैं। ऐसे में शिथिल हुई पाबंदियों के बीच बेरोकटोक पर्व मनाने का दोगुना उत्साह आमजन में देखा जा रहा है। बरसाने में होली का सुरूर देखा जा रहा है। बृंदावन के बांके बिहारी मंदिर, उज्जैन के महाकाल मंदिर सहित कई धार्मिक स्थलों और शहरों में होली का उत्साह देखते ही बन रहा है। बांके बिहारी मंदिर में तो शनिवार से ही होली का रंग श्रद्धालुओं पर चढ़ने लगा था। आज सुबह से ही ब़ड़ी संख्या में श्रद्धालु एकत्र होकर रंग के संग पर्व से एकाकार हो रहे हैं।वृंदावन नगरी होली के रंग में सराबोर हो गई है। कल गुरुवार को भी ठाकुर श्रीबांकेबिहारी के आंगन में सुबह और शाम को होली का रंग बरसा। श्रद्धालुओं ने भक्ति और श्रद्धा के इस रंग को प्रसादी रूप समझकर ग्रहण किया। मंदिर रंग—बिरंगे गुलाल और रंग में ऐसा नहाया कि भक्तजन रंगबिरंगे हो गए। होली के दिन सेवायातों ने स्वर्ण रजत पिचकारियों से भक्तों पर रंग डाला। मंदिर प्रांगण श्रीबांकेबिहारी लाल के जयकारों से गुंजायमान हो उठा। नगर के राधावल्लभ सहित अन्य मंदिरों में भी जमकर रंग बरस रहा है। कहीं रंगों की होली तो कहीं फूलों ही होली का आयोजन जारी है।पारंपरिक होली गीतों से गूंज रहे वृंदावन के गलियारेवृंदावन के आश्रमों और मठों में भक्तों ने होली महोत्सव मनाया जा रहा है। मंदिरों में श्रद्धालु होली के परंपरागत गीत गीत गा रहे हैं। श्रद्धालु अपने आपको होली में सराबोर होने से नहीं रोक सके। भक्तों ने बांकेबिहारी मंदिर सहित अन्य मंदिरों में हुई होली का आनंद लिया।उज्जैन के महाकाल मंदिर में श्रद्धालुओं पर चढ़ा होली का रंगउज्जैन के महाकाल मंदिर परिसर में होली का उत्साह देखा जा रहा है। यहां एक दिन पहले से ही होली का उत्सव मनना शुरू हो गया। सबसे पहले मंदिर परिसर में परंपरानुसार होली खेली गई। इसके बाद शाम को होली का पूजन हुआ। होलिका को अग्नि को समर्पित किया गया। इस दौरान सनातनी परंपरा के अनुसार लोगों ने होली का पूजन किया गया।इंदौर-भोपाल, जयपुर सहित विभिन्न शहरों में रंग-गुलालका उत्साहमध्यप्रदेश के इंदौर-भोपाल में होली का उत्साह सुबह से ही देखा जा रहा है। प्रशासन द्वारा दी गई शिथिल पा​बंदियों के कारण यह उत्साह और बढ़ गया है। इंदौर होली के साथ ही गेर मनाने की तैयारियां भी की जा रही हैं। यहां रंगपंचमी पर गेर निकालने की परंपरा है। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने पहले ही गेर पूरे उत्साह से मनाने के लिए आह्वान किया हुआ है। मप्र की राजधानी भोपाल राजस्थान की राजधानी जयपुर, छत्तीसगढ़, यूपी, बिहार, उत्तराखंड, पंजाब सहित देश के विभिन्न प्रांतों के गांवों कस्बों में होली पर्व का रंग सुबह से ही देखने को मिल रहा है।गुजरात में हेली पर्व की धूम ज़ारी है। अहमदाबाद में सुबह से ही होली का उत्साह शुरू हो गया था। दोपहर होते-होते यह उत्साह परवान चढ़ गया।जम्मू कश्मीर मेंसीआरपीएफ के जवानों ने खेली होलीजम्मू कश्मीर में सीआरपीएफ के जवानों पर भी होली का रंग देखा जा रहा है। जवानों ने एक-दूसरे को रंग-गुलाल लगाकर खुशियां मनाई।राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और पीएम मोदी ने ​दी होली के पर्व की बधाईराष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और पीएम नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को होली की शुभकामनाएं दी हैं।पीएम मोदी ने अपने ट्वीट संदेश में कहा— आप सभी को होली की हार्दिक शुभकामनाएं। आपसी प्रेम, स्नेह और भाईचारे का प्रतीक यह रंगोत्सव आप सभी के जीवन में खुशियों का हर रंग लेकर आए।मशहूरबॉडीबिल्डरSatnamKhattraकीheartattackकीवजहसेमौतमहज31सालथीउम्रIBPS RRB PO Result 2020: आईबीपीएस आरआरबी पीओ प्रीलिम्स रिजल्ट जारी, ऐसे करें चेक******इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकिंग कार्मिक चयन, प्रारंभिक परीक्षा के लिए IBPS RRB PO रिजल्ट 2020 जारी कर दिया गया है। IBPC RRB PO या ऑफिसर स्केल I 2020 प्रारंभिक परिणाम की स्थिति अब आधिकारिक वेबसाइट ibps.in पर ऑनलाइन उपलब्ध है।प्रारंभिक परीक्षा में चयनित उम्मीदवारों को अब मुख्य परीक्षा के लिए उपस्थित होना होगा। कृपया ध्यान दें, वर्तमान में केवल परिणाम की स्थिति अपडेट की गई है। उम्मीदवारों के अंक या अंक कुछ ही दिनों में जारी कर दिए जाएंगे। इसके अलावा, आईबीपीएस आरआरबी पीओ 2020 के लिए एडमिट कार्ड शॉर्टलिस्ट किए गए उम्मीदवार के लिए बाद में जारी किए जाएंगे।परिणाम स्थिति केवल 11 जनवरी, 2021 से 18 जनवरी, 2021 तक ऑनलाइन उपलब्ध होगी। परीक्षा के लिए उपस्थित होने वाले उम्मीदवारों को इसलिए सलाह दी जाती है कि वे जल्द से जल्द परिणाम की स्थिति की जाँच करें। इसके अलावा, मुख्य परीक्षा 30 जनवरी, 2021 के लिए निर्धारित है। मुख्य परीक्षा के लिए पंजीकृत उम्मीदवारों के लिए एडमिट कार्ड जल्द ही जारी किए जाएंगे।

मशहूर बॉडी बिल्डर Satnam Khattra की heart attack की वजह से मौत, महज 31 साल थी उम्र

मशहूरबॉडीबिल्डरSatnamKhattraकीheartattackकीवजहसेमौतमहज31सालथीउम्रNobel Prize 2021 Economic Sciences: डेविड कार्ड, जोशुआ डी.एंग्रिस्ट और गुइडो इम्बेन्स को अर्थशास्त्र के लिए 2021 का नोबेल पुरस्कार****** अमेरिका के डेविड कार्ड, जोशुआ डी.एंग्रिस्ट और गुइडो इम्बेन्स को अर्थशास्त्र के लिए 2021 का नोबेल पुरस्कार दिए जाने की घोषणा की गई है।तीन अमेरिकी अर्थशास्त्रियों को अनपेक्षित प्रयोगों, या तथाकथित ‘‘प्राकृतिक प्रयोगों’’ से निष्कर्ष निकालने पर काम करने के लिए अर्थशास्त्र के 2021 के नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। नोबोल पुरस्कार से सम्मानित होने वाले अर्थशास्त्रियों में बर्कले स्थित कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय के डेविड कार्ड, मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के जोशुआ डी.एंग्रिस्ट और स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के गुइडो इम्बेन्स शामिल हैं। रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेस ने कहा कि तीनों ने ‘‘आर्थिक विज्ञान में अनुभवजन्य कार्य को पूरी तरह से बदल दिया है।’’अर्थशास्त्र के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिए 2021 के नोबेल पुरस्कार विजेता की घोषणा कर दी गई है। अमेरिका के डेविड कार्ड, जोशुआ डी.एंग्रिस्ट और गुइडो इम्बेन्स को अर्थशास्त्र के लिए 2021 का नोबेल पुरस्कार दिए जाने की घोषणा की गई है।अन्य नोबेल पुरस्कारों के विपरीत अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार अल्फ्रेड नोबेल की वसीयत में स्थापित नहीं किया गया था बल्कि स्वीडिश केंद्रीय बैंक द्वारा 1968 में उनकी स्मृति में इसकी शुरुआत की गई थी, जिसमें पहले विजेता को एक साल बाद चुना गया था। यह प्रत्येक वर्ष घोषित नोबेल का अंतिम पुरस्कार है।पिछले साल का पुरस्कार स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के दो अर्थशास्त्रियों पॉल आर मिल्ग्रोम और रॉबर्ट बी विल्सन को मिला, जिन्होंने नीलामी को अधिक कुशलता से संचालित करने की मुश्किल समस्या का समाधान प्रस्तुत किया। पिछले हफ्ते, 2021 का नोबेल शांति पुरस्कार फिलीपीन की पत्रकार मारिया रेसा और रूस के दिमित्री मुरातोव को उन देशों में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए उनकी लड़ाई के लिए दिया गया था, जहां पत्रकारों को लगातार हमलों, उत्पीड़न और यहां तक ​​कि हत्या का सामना करना पड़ा है। साहित्य का नोबेल तंजानिया के लेखक, ब्रिटेन में रहने वाले अब्दुलरजाक गुरनाह को दिया गया।मशहूरबॉडीबिल्डरSatnamKhattraकीheartattackकीवजहसेमौतमहज31सालथीउम्रUri Box Office Collection Day 3: साल 2019 की पहली हिट बनी विक्की कौशल की फिल्म, तीन दिन में कमाए इतने****** स्टारर फिल्म 'उरी: द सर्जिकल स्ट्राइक' साल 2019 की पहली हिट फिल्म बन गई है। 11 जनवरी को रिलीज हुई इस फिल्म ने तीन दिन में भारत में 35.73 करोड़ रूपये का बिजनेस कर लिया है। फिल्म ने शुक्रवार को 8.20 करोड़ रूपये, शनिवार को 12.43 करोड़ रूपये और रविवार को 15.10 करोड़ रूपये का कलेक्शन किया है।फिल्म को आदित्य धर ने डायरेक्ट किया है। यह 2016 में भारतीय आर्मी द्वारा किए गए सर्जिकल स्ट्राइक की सच्ची घटना पर आधारित है। फिल्म में विक्की, यामी के अलावा मोहित रैना और कीर्ति कुल्हाड़ी भी अहम रोल में हैं। फिल्म को मिली-जुली प्रतिक्रिया मिली है और कइयों ने फिल्म की सिनेमेटोग्राफी और विक्की की एक्टिंग की तारीफ की है।फिल्म क्रिटिक और ट्रेड एनालिस्ट तरण आदर्श ने ट्वीट कर फिल्म के कलेक्शन की जानकारी दी।उरी बतौर लीड एक्टर विक्की की सबसे ज्यादा ओपनिंग वाली फिल्म भी है। विक्की ने 'मनमर्जियां', 'राज़ी', 'रमन राघव 2.0' जैसी फिल्मों में काम किया है। उनकी 'संजू' ने पहले दिन 34.75 करोड़ रूपये की कमाई जरूर की थी, लेकिन फिल्म में रणबीर कपूर लीड रोल में थे।इस फिल्म के साथ पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के मीडिया सलाहकार संजय बारू की किताब पर आधारित फिल्म 'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' भी रिलीज हुई है। फिल्म में अनुपम खेर लीड रोल में हैं।

मशहूर बॉडी बिल्डर Satnam Khattra की heart attack की वजह से मौत, महज 31 साल थी उम्र

मशहूरबॉडीबिल्डरSatnamKhattraकीheartattackकीवजहसेमौतमहज31सालथीउम्रचीन और अमेरिका को पछाड़ेंगे हम, IMF ने थपथपाई भारत की पीठ, जानिए दुनिया के देशों से कितना आगे है इंडिया******India ChinaHighlightsकोरोना की आपदा से उबर रही भारतीय अर्थव्यवस्था को लेकर अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने 2022 के लिए अनुमान जारी किए हैं। आईएमएफ के मुताबिक चीन के मुकाबले इस साल भारत दोगुनी रफ्तार से तरक्की करेगा। आईएमएफ ने 2022 में भारतीय अर्थव्यवस्था के 8.2 प्रतिशत की दर से ग्रोथ का अनुमान व्यक्त किया है। हालांकि यह ग्रोथ रेट पिछली बार 9 प्रतिशत के अनुमार से कम है। इससे पहले विश्व बैंक ने भी भारत के विकास दर अनुमान को घटा दिया था।आइएमएफ ने इस वर्ष चीन की इकोनोमी की वृद्धि दर 4.4 फीसद रहने की बात कही है। आईएमएफ ने सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि वैश्विक इकोनोमी की वृद्धि दर अनुमान को भी 6.1 फीसद से घटा कर 3.6 फीसद कर दिया है।आइएमएफ की रिपोर्ट कहती है कि वर्ष 2023 में भारत की विकास दर घट कर 6.9 फीसद पर आ जाएगी। जबकि वर्ष 2021 में देश की विकास दर 8.9 फीसद रही थी। अनुमान घटाने का साफ मतलब है कि यूक्रेन-रूस युद्ध का दुनिया भर में बहुत ही उल्टा असर होने वाला है।आइएमएफ ने यूक्रेन-रूस के अलावा खाद्य उत्पादों की कीमतों में भारी वृद्धि को भी एक बड़ी वजह बताया है।आइएमएफ ने जापान और भारत के लिए ही ज्यादा गिरावट की बात कही है। इन दोनो देशों की इकोनोमी में पेट्रो उत्पादों का बड़ा हिस्सा है और इसके लिए ये अधिकांश तौर पर आयात पर निर्भर है। अब जबकि क्रूड की कीमतें काफी बढ़ गई हैं तो इनकी विकास दर प्रभावित होने की संभावना बन गई है। कई घरेलू एजेंसियों ने भी भारत की विकास दर के अनुमान को कम किया है।चीन की बात करें तो आइएमएफ के अनुमान में भारत आर्थिक मोर्चे पर चीन के मुकाबले इतनी तेजी से कभी आगे नहीं बढ़ा है। आइएमएफ का मानना है कि वर्ष 2021 में 8.1 फीसद की विकास दर हासिल करने वाला चीन वर्ष 2022 में सिर्फ 4.4 फीसद की वृद्धि दर ही हासिल कर सकेगा। वर्ष 2023 में यह घट कर 5.1 फीसद रह जाएगा।

मशहूरबॉडीबिल्डरSatnamKhattraकीheartattackकीवजहसेमौतमहज31सालथीउम्रJammu Kashmir: कश्मीर घाटी में नया खतरा, दूसरे विश्वयुद्ध में इस्तेमाल 'स्टिकी बम' का उपयोग कर रहे आतंकी, जानें इसके बारे में******हाल के समय में जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों के लिए स्टिकी बम नया खतरा बनकर उभरे हैं। पिछले छह महीनों के दौरान जम्मू कश्मीर पुलिस और सुरक्षाबलों ने जम्मू और कश्मीर के अलग-अलग हिस्सों से 17 ऐसे बमों को बरामद किया गया है। सुरक्षा एजेंसियों को जो जानकारी मिली है, उसके मुताबिक आतंकी ऐसे बमों को महत्वपूर्ण वाहनों के नीचे चिपकाकर बड़ी वारदात को अंजाम देने की योजना बना रहे हैं। दरअसल, कश्मीर घाटी में पिछले दिनों एक बस पर आतंकी हमले में चार लोग मारे गए थे और 24 घायल हुए थे। इस मामले की जांच नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी NIA कर रही है। इस आतंकी हमले में ‘स्टिकी बम’ का इस्तेमाल हुआ। यह बम अफगानिस्तान में अमेरिका, या कहें नाटो सेनाओं ने काफी उपयोग किया था। स्टिकी बम भी एक तरह का इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस, यानी IED ही है।क्या है यह स्टिकी बमस्टिकी बम को कुछ समय पहले आतंकियों के पास से बरामद किया गया था। बेहद छोटे साइज के इन बमों में चुंबक या फिर चिपकाने वाला पदार्थ लगाकर आतंकी इसको वाहन और संवेदनशील जगह पर लगाने की कोशिश कर रहे हैं। ताकि बड़े से बड़ा धमाका हो और घाटी में एक बार फिर दहशत फैले। सुरक्षा एजेंसियों को जो इनपुट मिला है उसके मुताबिक आईईडी की तरह इस बम को इस्तेमाल करने की कोशिश की जाएगी।बम का वजन करीब ढाई सौ ग्राम होगा और यह रिमोट कंट्रोल द्वारा संचालित होगा। हालांकि स्टिकी बम का इस्तेमाल दूसरे विश्व युद्ध, अफगान युद्ध के दौरान भी होता रहा है, लेकिन कश्मीर घाटी में इसका इस्तेमाल बिल्कुल नई बात है। इस बम को फटने में सिर्फ 5 से 10 मिनट लगते हैं और नुकसान बहुत बड़ा होता है। खतरे के इस पहलू को देखते हुए वाहनों की चेकिंग भी बड़ी तादाद में बढ़ा दी गई है।घाटी में सीआरपीएफ ने तैयार की रणनीतिसुरक्षा एजेंसियों को आतंकियों के मंसूबे का अंदाजा है जिसके बाद इनको जवाब देने के लिए पूरी तैयारी कर ली गई है। सीआरपीएफ के डीजी कुलदीप सिंह ने कहा, 'कुछ आतंकियों के पास से हमने यह बरामद किया है जिसके बाद हमने अपनी रणनीति तैयार की है। हमें पूरी जानकारी है इस तरीके के खतरे के बारे में तो हमने वाहनों की चेकिंग और अपनी फोर्स जो की घाटियों में तैनात है वहां पर मुस्तैद रहने के लिए कह दिया है।'मशहूरबॉडीबिल्डरSatnamKhattraकीheartattackकीवजहसेमौतमहज31सालथीउम्रBharat Bill Payment System के जरिये NRI कर सकेंगे पेमेंट, भारत में बढ़ेगा रेमिटेंस******के जरिये NRI बिलों का पेमेंट कर सकेंगे। आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने मौद्रिक पॉलिसी जारी करते हुए शुक्रवार को यह ऐलान किया। इसके तहत प्रवासी भारतीय (NRI) भारत में अपने परिवार के सदस्यों की ओर से भारत बिल भुगतान प्रणाली के जरिये बिजली, पानी जैसी सुविधाओं और स्कूल, कॉलेज की फीस का भुगतान कर सकेंगे। भारत बिल भुगतान प्रणाली (बीबीपीएस) से करीब 20,000 बिल भेजने वाली इकाइयां जुड़ी हैं। जानकारों का कहना है कि इस पहल से भारत में रेमिटेंस फ्लो में बढ़ोतरी होगी।इस प्रणाली पर मासिक आधार पर आठ करोड़ लेनदेन होते हैं। रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने मौद्रिक समीक्षा बैठक के नतीजों की घोषणा करते हुए शुक्रवार को कहा कि बीबीपीएस ने भारत में प्रयोगकर्ताओं के बिल भुगतान के अनुभव को बदला है। अब इसमें सीमापार से बिल भुगतान की प्रणाली को भी शुरू किया जा रहा है। गवर्नर ने कहा, इससे एनआरआई भारत में अपने परिवारों की ओर से बिजली, पानी के बिलों का भुगतान कर सकेंगे। साथ ही इसके जरिये वह शिक्षा से जुड़े शुल्कों का भी भुगतान कर पाएंगे।दास ने कहा कि इससे विशेष रूप से वरिष्ठ नागरिकों को काफी फायदा होगा। केंद्रीय बैंक ने बयान में कह कि इस फैसले से बीबीपीएस मंच से जुड़े अन्य बिल भेजने वाली इकाइयों के बिलों का भी भुगतान किया जा सकेगा। केंद्रीय बैंक जल्द इस बारे में आवश्यक निर्देश जारी करेगा। दास ने मुंबई इंटरबैंक आउटरेट रेट (मिबोर) आधारित ‘ओवरनाइट इंडेक्स स्वैप’ (ओआईएस) अनुबंधों के लिये वैकल्पिक मानक दर तय करने की संभावना के अध्ययन को एक समिति के गठन की भी घोषणा की है। इसका विदेशी बाजार में ब्याजदर डेरिवेटिव्स (आईआरडी) के रूप में व्यापक इस्तेमाल होता है। रिजर्व बैंक द्वारा भागीदारों के आधार में विविधता और नए आईआरडी मध्यमों के लिए कदम उठाने से मिबोर आधारित डेरिवेटिव अनुबंध का इस्तेमाल बढ़ा है।इसके अलावा, रिजर्व बैंक ने एकल प्राथमिक डीलरों (एसपीडी) को सीधे प्रवासी भारतीयों और अन्य से विदेशी मुद्रा निपटान ओवरनाइट इंडेक्स्ड स्वैप (एफसीएस-ओआईएस) लेनदेन की अनुमति दे दी है। वर्तमान में एकल प्राथमिक डीलरों को सीमित उद्देश्यों के लिए विदेशी मुद्रा व्यापार करने की अनुमति है। एसपीडी में बैंक आदि आते हैं। इस साल फरवरी में बैंकों को विदेशी एफसीएस-ओआईएसबाजार में प्रवासियों और अन्य से लेनदेन की अनुमति दी गयी थी।

मशहूरबॉडीबिल्डरSatnamKhattraकीheartattackकीवजहसेमौतमहज31सालथीउम्रराधे श्याम: प्रभास ने अमिताभ बच्चन और एसएस राजामौली को क्यों बोला थैंक्यू?******Highlights'राधे श्याम' शुक्रवार को स्क्रीन पर हिट होने के लिए तैयार है। इसी बीच प्रभास ने अपनी टीम खासकर बिग बी, पृथ्वीराज, शिव राजकुमार और एसएस राजामौली को धन्यवाद दिया है। अमिताभ बच्चन, पृथ्वीराज सुकुमारन, शिव राजकुमार और एस.एस. राजामौली जैसी प्रसिद्ध हस्तियों ने फिल्म को अपनी 'शानदार' आवाज दी।अमिताभ, पृथ्वीराज, राजकुमार और राजामौली ने अलग-अलग भाषाओं में फिल्म को आवाज दी है।इंस्टाग्राम पर प्रभास ने लिखा, "हम अमिताभ बच्चन सर, शिव राजकुमार सर, पृथ्वीराज सुकुमारन सर, एसएस राजामौली सर को हमारी फिल्म राधेश्याम को अपनी शानदार आवाज देने के लिए सम्मानित महसूस कर रहे हैं। इस फिल्म को हमारे लिए और भी खास बनाने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।"राधा कृष्ण कुमार द्वारा लिखित और निर्देशित, 'राधे श्याम' एक पीरियड रोमांटिक ड्रामा है, जो एक हस्तरेखाविद् विक्रमादित्य की कहानी के इर्द-गिर्द घूमती है।इनपुट-आईएएनएसमशहूरबॉडीबिल्डरSatnamKhattraकीheartattackकीवजहसेमौतमहज31सालथीउम्रDream Girl Box Office Collection Day 2: आयुष्मान खुराना की 'ड्रीम गर्ल' ने बॉक्स ऑफिस पर मचाया धमाल, दूसरे दिन कमाए इतने करोड़******एक्टर और नुसरत भरूचा की फिल्म ड्रीम गर्ल कीबॉक्स ऑफिस पर ताबड़तोड़ कमाई जारी है। इस फिल्म ने अभी तक कुल 26.47 करोड़ रुपए कमा लिए हैं। इस फिल्म में सबसे मजेदार चीज यह है कि फिल्म में आयुष्मान खुराना लड़का और लड़की दोनोंका किरदार करते हुए दिख रहे हैं। जैसा कि आपको बता दें कि यह फिल्म शुक्रवार को रिलीज की गई थी। फिल्म की ओपनिंग कमाई ही 10.05 थी और फिल्म की दूसरे दिन की कमाई 16.42 करोड़ के पास पहुंच गई है। ऐसे में यह बात तो साफ हो गई है कि फिल्म लोगों को काफी पसंद आ रही हैं साथ ही बितते दिन के साथ फिल्म की कमाई में बढ़ोतरी देखने को मिलेगी।फिल्म ट्रेड एनालिस्ट तरण आदर्श ने ट्वीट कर जानकारी दी है। उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा, 'ड्रीम गर्ल की कमाई दूसरे दिन 63.38% के उछाल के साथ इसकी कमाई 16.42 करोड़ के पास पहुंच गई है। मेट्रो, टियर 2 और टियर 3 के शहरों में भी फिल्म अच्छा बिजनेस कर रही है।ऐसा माना जा रहा है कि तीसरे दिन की कमाई दूसरे दिन की कमाई से अधिक रहेगा। फिल्म ने ओपनिंग वाले दिन 10 करोड़ से ज्यादा की कमाई कर ली थी। वहीं फिल्म ने शुक्रवार को 16.42 करोड़ की ओपनिंग ली है। फिल्म की अब कुल कमाई 26.47 करोड़ रुपए हो गई हैं।बता दें कि फिल्म ड्रीम गर्ल में आयुष्यमान खुराना के अलावा नुसरत भरुचा लीड रोल में हैं। इन दोनों के अलावा फिल्म में विजय राज और अन्नू कपूर भी महत्वपूर्ण भूमिका में नजर आएंगे। इस फिल्म में आयुष्मान खुराना ने ऐसे लड़के की भूमिका निभाई हैं। जो लड़का और लड़की दोनों की आवाज निकाल सकता हैं।

मशहूरबॉडीबिल्डरSatnamKhattraकीheartattackकीवजहसेमौतमहज31सालथीउम्रWorld Cup 2019: लंका के खिलाफ शतक जड़ने के बाद रोहित शर्मा ने युवराज सिंह को लेकर किया बड़ा खुलासा******लीड्स। प्रतिभा को मुश्किल समय में हौसला अफजाई की जरूरत होती है और रोहित शर्मा को यह समर्थन युवराज सिंह से मिला जिन्होंने अहम समय में रन बनाने की भारतीय उप कप्तान की क्षमता पर भरोसा जताया।एक विश्व कप में सर्वाधिक पांच शतक का रिकार्ड बनाने वाले रोहित मुंबई इंडियन्स के आईपीएल में खिताबी अभियान के दौरान भी अच्छी फार्म में थे। आईपीएल के दौरान रोहित ने अपनी आशंकाओं को लेकर युवराज से बात की जिन्होंने भारत को दो वैश्विक खिताब दिलाने में अहम भूमिका निभाई है।शनिवार को श्रीलंका पर भारत की सात विकेट की जीत के बाद रोहित ने कहा, ‘‘मैं बड़ी पारियां नहीं खेल पा रहा था (आईपीएल के दौरान)। वह (युवराज) मेरे लिए बड़े भाई की तरह है। इसलिए हम हमेशा खेल, जीवन के बारे में बातें करते हैं। उसने कहा कि जब जरूरत होगी तुम रन बनाओगे। मुझे लगता है कि वह संभवत: विश्व कप के बारे में कह रहा था।’’रोहित का मानना है कि इससे मदद मिली कि युवराज को उनकी स्थिति 2011 विश्व कप से पहले अपनी फार्म की तरह दिखी। उन्होंने कहा, ‘‘आईपीएल के दौरान खेल को लेकर हमारी अच्छी बातचीत हुई। क्योंकि 2011 में विश्व कप से पहले वह भी इसी चरण से गुजर रहा था और पर्याप्त रन नहीं बना पा रहा था।’’रोहित ने कहा, ‘‘उसने मुझे मानसिक स्थिति सही रखने को कहा। और उसने भी यही किया था और यही कारण है कि उस विश्व कप में वह इतना सफल रहा था। हमने यही बात की।’’एक टूर्नामेंट में पांच शतक बड़ी उपलब्धि है लेकिन रोहित ने कहा कि वह इसे बड़ी उपलब्धि तभी मानेंगे जब भारत 14 जुलाई को ट्राफी जीतेगा। यह पूछने पर कि क्या यह विश्व रिकार्ड उनके करियर का अहम बिंदू रहेगा, ‘‘अगर हम विश्व कप जीतने में सफल रहे तो संभवत: ऐसा होगा।’’उन्होंने कहा, ‘‘अगर नहीं तो मैं कुछ कह नहीं सकता क्योंकि अंतत: टूर्नामेंट जीतना महत्वपूर्ण है, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपने कितने रन बनाए या आपने कितने विकेट लिए।’’एक विश्व कप में सचिन तेंदुलकर के सर्वाधिक 673 रन के रिकार्ड से रोहित सिर्फ 26 रन पीछे हैं। उन्होंने अब तक 647 रन बनाए हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मैं यहां रिकार्ड बनाने के लिए नहीं आया हूं। मैं यहां खेलने और रन बनाने तथा कप उठाने के लिए आया हूं। मैं यहां इसीलिए आया हूं। ईमानदारी से कहूं तो मैं इन चीजों के बारे में नहीं सोच रहा।’’मशहूरबॉडीबिल्डरSatnamKhattraकीheartattackकीवजहसेमौतमहज31सालथीउम्रDussehra 2021: दशहरे के दिन क्यों है शमी और अपराजिता की पूजा का प्रावधान, जानिए******आज यानी 15 अक्टूबर को जीत का प्रतीक का त्योहार मनाया जा रहा है। दशमी तिथि शाम 6 बजकर 2 मिनट तक रहेगी। इसके साथ ही पूरा दिन और पूरी रात समस्त कार्यों में सफलता दिलाने वाला रवि योग रहेगा। पुराणों के अनुसार रावण पर भगवान श्री राम की जीत के उपलक्ष्य में विजयदशमी का ये त्योहार मनाया जाता है। इस दिन कोई भी काम करने से उसमें जीत सुनिश्चित होती है।आचार्य इंदु प्रकाश के अनुसार दशहरा के दिन शमी और देवी अपराजिता की पूजा जरूर करना चाहिए।इसके साथ ही नीलकंठ के दर्शन करना चाहिए। ऐसा करने से जीवन में खुशहाली बनी रहती है और धनलाभ होता है।विजयदशमी के दिन अपराजिता की पूजा करने का विधान है। अपराजिता की पूजा से सालभर तक कार्यों में जीत हासिल होती है और किसी भी काम में रूकावट नहीं आती। इस दिन दोपहर बाद घर के ईशान कोण, यानी उत्तर-पूर्व दिशा को अच्छे से साफ करके, उसे गोबर से लीपकर, उसके ऊपर चंदन से आठ पत्तियों वाला कमल का फूल बनाना चाहिए और संकल्प करना चाहिए-मम सकुटुम्बस्य क्षेम सिद्धयर्थे अपराजिता पूजनं करिष्ये”अगर आप ये मंत्र न पढ़ पाएं तो आपको इस प्रकार कहना चाहिए कि हे देवी ! मैं अपने परिवार के साथ अपने कार्य को सिद्ध करने के लिये और विजय पाने के लिये आपकी पूजा कर रहा हूं। इस प्रकार कहकर उस कमल की आकृति के बीच में अपराजिता का पौधा रखना चाहिए।ये तो हुई साधारण मनुष्य की बात जबकि राजाओं को इस प्रकार संकल्प लेना चाहिए“मम सकुटुम्बस्य यात्रायां विजय सिद्धयर्थम्”अब लोकतंत्र के समय में राजा तो नहीं होते, लेकिन देश के मुखिया प्रधानमंत्री होते हैं, राज्य के मुखिया मुख्यमंत्री होते हैं, साथ ही मंत्री होते हैं और उच्चाधिकारी होतेहैं, जो अपने देश की, अपने राज्य की और अपने-अपने कार्यक्षेत्र की देखरेख करते हैं। लिहाजा आज देश के प्रधानमंत्री को, मुख्यमंत्री को, मंत्रियों को और उच्चाधिकारियों को अपनी प्रजा के लिये, हर मोर्चे पर अपने देश की विजय के लिये और देश की तरक्की के लिये अपराजिता की पूजा करनी चाहिए और ये संकल्पलेना चाहिए - 'मम सकुटुम्बस्य यात्रायां विजय सिद्धयर्थमपरा'इसके बाद अपराजिता की दाहिनी ओर जया और बायीं ओर विजया शक्ति का आह्वाहन करना चाहिए। इसके बाद तीनों को प्रणाम करते हुए क्रमशः ये कहना चाहिए- अपराजितायै नमः, जयायै नमः, विजयायै नमःइस तरह मंत्र कहते हुए उनकी षोडशोपचार, यानी 16 उपचारों के साथ पूजा करनी चाहिए और प्रार्थना करनी चाहिए- 'हे देवी, यथाशक्ति जो पूजा मैंने अपनी रक्षा के लिये की है, उसे स्वीकार कीजिये।' इस प्रकार पूजा के बाद देवी मां से अपने स्थान पर वापस जाने का आग्रह करें।निर्णयसिन्धु और धर्मसिन्धु में शमी पूजा के बारे में विस्तार से दिया गया है। इसके लिये गांव की सीमा पर जाकर उत्तर-पूर्व दिशा में शमी के पौधे की पूजा करनी चाहिए। सबसे पहले शमी की जड़ में लोटे से साफ जल चढ़ाना चाहिए और घी का दीपक जलाना चाहिए। ऐसा करने से व्यक्ति को सालभर तक यात्राओं में लाभ मिलता है, यात्रा में किसी प्रकार की बाधा नहीं आती और काम में सफलता मिलती है।शमी की पूजा के बाद सीमा उल्लंघन करना चाहिए यानी अपने गांव या शहर की सीमा को लांघकर बाहर जाना चाहिये। इससे जीवन में उत्साह और प्रगति बनी रहती है।अपराजिता और शमी पूजा के अलावा आज खंजन, यानी नीलकंठ पक्षी के दर्शन करना बड़ा ही शुभ माना जाता है। दशहरे के दिन इसका दर्शन करना अपनी किस्मत के दरवाजे खोलने के समान है। अगर आज आपको कहीं भी नीलकंठ के दर्शन हो जाये तो उसे देखते हुए कहना चाहिए- खंजन पक्षी, तुम इस पृथ्वी पर आये हो, तुम्हारा गला नीला एवं शुभ्र है, तुम सभी इच्छाओं को देने वाले हो, तुम्हें नमस्कार है।शास्त्रों के अनुसार दशहरा के दिन आम के बौर को सूंघने की परंपरा है। इससे व्यक्ति का मानसिक संतुलन अच्छा रहता है, मन प्रसन्न रहता है और डिप्रेशन आदि सेछुटकारा मिलता है, साथ ही विजयदशमी के दिन धान की हरी, अनपकी बालियों को घर के द्वार पर टांगने और गेहूं की बालियों को घर के पुरुषों के कानों पर टांगने का या पगड़ी पर रखने का चलन है । माना जाता है कि ऐसा करने से घर में पैसा आता है।विजयदशमी अपने काम से संबंधित शस्त्रों की पूजा करने का भी विधान है। इससे जरूरत पड़ने पर ये आपके काम आते हैं। माना जाता है कि दशहरा के दिन अपने घर या फिर मंदिर में लाल पताका भी लगानी चाहिए। ये पताका जीत का प्रतीक होती है। इससे आपकी जीत हमेशा कायम रहेगी।

नवीनतम उत्तर (2)
2022-10-05 23:34
उद्धरण 1 इमारत
1 अप्रैल 2020 के बाद देश में नहीं बिक सकेंगे BS-4 वाहन, सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक******BS IVदेश में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए को देखते हुए सर्वोच्‍च न्‍यायालय ने कड़ा फैसला लिया है। सुप्रीम कोर्ट ने 1 अप्रैल 2020 के बाद से देश में बीएस 4 वाहनों की बिक्री और उनके रजिस्‍ट्रेशन पर रोक लगा दी है। देश में अभी बन रहे लगभग सभी वाहन बीएस 4 श्रेणी में ही आते हैं।कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए कंपनियों ​को बीएस-4 वाहनों का स्टॉक खत्म करने के लिए अप्रैल, 2020 तक का वक्त दिया है , उसके बाद BS-IV वाहनों की बिक्री या रजिस्ट्रेशन नहीं हो सकेगा। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट के आदेश के तहत 31 मार्च 2017 को बीएस 3 वाहनों की बिक्री बंद कर दी गई थी।हाल ही में सरकारने बीएस6 मानक लागू करने की घोषणा की थी। अप्रैैल 2020 से भारत में बीएस 6 एमिशन नॉर्म को लागू किया जाना है।दरअसल, बीएस-6 फ्यूल में सल्फर की मात्रा काफी कम होती है जिसकी वजह से प्रदूषण भी कम फैलता है। वहीं, बीएस-6 वाले वाहनों से नाइट्रोजन ऑक्साइड का 89 फीसद और पीएम का 50 फीसद कम उत्सर्जन होगा। हालांकि बीएस-4 वाहनों का स्टॉक खत्म करने के लिए ग्रेस पीरियड दिये जाने की मांग की गई थी।
2022-10-05 22:30
उद्धरण 2 इमारत
हवाई यात्रा की सुरक्षा पर उठे सवाल, Indigo के विमान का इंजन कांपा, SpiceJet के विमान में आई खराबी******देश में हवाई यात्रा की सुरक्षा पर बड़े सवाल उठने लगे हैं। हाल के दिनों में देश की कई एयरलाइंस के जहाजों में खराबी की घटना सामने आई है। गुरुवार का दिन तो काफी हलचल भरा रहा। गुरुवार सुबह जहां दिल्ली से नासिक जा रहे स्पाइसजेट के विमान में गड़बड़ी की खबर आई, वहीं शाम होते होेते इंडिगो के विमान में गड़बड़ी की खबर ने सभी को दहला दिया।दिल्ली से बृहस्पतिवार को उदयपुर जा रहा इंडिगो का एक विमान इंजन में कंपन के बाद वापस उतर आ गया। नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि विमान लैंड हो गया है। डीजीसीए इस घटना की जांच करेगा। बृहस्पतिवार को इस तरह की यह दूसरी घटना है जब कोई विमान तकनीकी खराबी के चलते दिल्ली हवाईअड्डे पर लौटा है। अधिकारी ने बताया कि दिल्ली से उदयपुर जा रहा इंडिगो का ए320 नियो विमान उड़ान के दौरान दूसरे इंजन में कंपन के बाद वापस लौट गया। अधिकारी ने अनुसार, विमान सुरक्षित उतर गया है और उसे खड़ा कर दिया गया है।डीजीसीए घटना की विस्तृत जांच करेगा। इससे पहले दिन में, स्पाइसजेट का एक विमान दिल्ली से नासिक के लिए रवाना हुआ था। ‘ऑटोपायलट’ में दिक्कत के कारण यह बीच से ही लौट आया। डीजीसीए इस घटना की भी जांच करेगा।Spicejet का दिल्ली से महाराष्ट्र के नासिक जा रहा एक विमान बृहस्पतिवार सुबह तकनीकी खामी के बाद बीच रास्ते से लौट आया। विमान ने दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे से उड़ान भरी थी। नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। अधिकारी ने बताया, ‘‘स्पाइसजेट के दिल्ली से नासिक जा रहे विमान में बृहस्पतिवार को रास्ते में ही ऑटोपायलट संबंधी खराबी आई जिस वजह से विमान बीच रास्ते से लौट आया।’’ इससे पहले भी स्पाइसजेट के विमानों में खराबी की घटनाएं सामने आ चुकी हैं और डीजीसीए ने एयरलाइन को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया है। विमानन सुरक्षा नियामक ने 27 जुलाई को आदेश दिया था कि एयरलाइन आठ सप्ताह तक अधिकतम 50 फीसदी उड़ानों का संचालन करेगी।
2022-10-05 22:00
उद्धरण 3 इमारत
पेट्रोल-डीजल की कीमतें चुनाव की तारीखों से नियंत्रित होती हैं, वैश्विक दरों से नहीं: कांग्रेस******कांग्रेस ने रविवार को मध्यम और निम्न आय वर्ग के परिवारों के लिए पेट्रोल और डीजल की दरों में कम से कम 15 रुपये प्रति लीटर और रसोई गैस की कीमतों में कम से कम 150 रुपये प्रति सिलेंडर की कमी करके तत्काल राहत देने की मांग की। दिल्ली में संवाददाता सम्मेलन में कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने सवाल किया कि उपभोक्ताओं को ईंधन की ऊंची कीमतों का खामियाजा क्यों उठाना पड़ रहा है, जब कच्चे तेल की कीमतें सात महीने के निचले स्तर पर हैं और मुद्रास्फीति पिछले सात महीनों में भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के छह प्रतिशत की उच्चतम श्रेणी से ऊपर है।उन्होंने सवाल किया, "जब कच्चे तेल की ऊंची कीमतों का बोझ हमेशा उपभोक्ताओं पर डाला जाता है, तो उपभोक्ताओं को राहत क्यों नहीं दी जा रही है।" वल्लभ ने कहा, "पेट्रोल और डीजल की कीमतें वैश्विक दरों से नहीं चुनाव की तारीखों से नियंत्रित होती हैं।" उन्होंने आरोप लगाया कि जब चुनाव नजदीक आते हैं, तो सरकार कीमतों को कम कर देती है या उन पर रोक लगा देती है, और जब वे खत्म हो जाते हैं तो वे कीमतें बढ़ा देते हैं।कांग्रेस नेता ने सवाल किया, "नरेंद्र मोदी नीत सरकार की ओर से रसोई गैस की घटती कीमतों पर राहत उपभोक्ताओं को नहीं देने के क्या बहाने हैं? क्या मोदी नीत सरकार केवल उपभोक्ताओं पर बोझ डालने में विश्वास करती है।" उन्होंने कहा कि खुदरा महंगाई, सकल घरेलू उत्पाद (GDP) और रुपये में गिरावट कुछ ऐसे उदाहरण हैं, जो अर्थव्यवस्था के प्रबंधन की चिंताजनक तस्वीर पेश करते हैं।कांग्रेस नेता ने कहा, "मौजूदा बीजेपी नीत सरकार अपनी ही सरकार की ओर से जारी किए गए अधिक डेटा बिंदुओं के साथ नए निम्न स्तर कायम कर रही है। मध्यम और निम्न-आय वर्ग सरकार की उदासीनता और अक्षमता के कारण सबसे अधिक पीड़ित हैं।" वल्लभ ने कहा, "लगातार उच्च खुदरा महंगाई दर ऐसे क्षेत्रों में से एक है, जिसमें तत्काल सरकारी हस्तक्षेप की आवश्यकता है।" उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार ईंधन की कीमतों के प्रति सबसे अधिक लापरवाह रही है।कांग्रेस नेता ने कहा, "चूंकि उनका सभी आर्थिक गतिविधियों पर व्यापक प्रभाव पड़ता है, इसलिए सरकार की निष्क्रियता उसकी अज्ञानता और ध्यान हटने को प्रदर्शित करती है।" वल्लभ ने कहा, "कच्चे तेल की कीमतें पिछले कुछ महीनों से लगातार नीचे की ओर जा रही हैं और सात महीने के निचले स्तर पर हैं। लेकिन हमारे देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतें विनियमित करने के बाद भी इस रूझान को प्रतिबिंबित नहीं करती हैं, इसका मतलब है कि पेट्रोल और डीजल की कीमतें वैश्विक कीमतों के अनुसार बदलनी चाहिए।"कांग्रेस नेता ने पेट्रोलियम योजना एवं विश्लेषण प्रकोष्ठ (पीपीएसी, भारत सरकार) के आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि 8 सितंबर, 2022 तक कच्चे तेल की कीमत 'इंडियन बास्केट' 88 डॉलर प्रति बैरल थी, जो इस साल जून में 116 डॉलर थी। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में चुनाव के बाद 22 मार्च से 31 मार्च 2022 के बीच 10 दिन में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में नौ गुना वृद्धि हुई।
वापसी